क्रेडिट /डेबिट कार्ड!

क्रेडिट/डेबिट कार्ड आज हर किसी की सुविधा ही नहीं आवश्यकता बन गये हैं . इनके 3 प्रकार के उपयोग करता हैं! 1ली तरह के लोग ही इसका सही तरह प्रयोग करते हैं! 2री तरह के लोग इस उपयोगी सुविधा का डर के कारण पूरा लाभ उठा पाने से वंचित रह जाते हैं और

3रे प्रकार के लोग लापरवाही से उपयोग कर अपने नुकसान का कारण बन जाते हैं…

तीनों ही तरह के उपयोग कर्ता ऊपर साझा की गई तस्वीर से परिचित होंगे? अधिकांश कार्ड्स इसी प्रकार एक कागज पर चिपका कर भेजे जाते हैं! कभी सोचा कि इस तरह क्यों भेजे जाते हैं? आप कहेंगे ताकि कार्ड के गिरकर खोने का डर ना रहे… कुछ हद तक सही भी है किन्तु इसके लिए कई रंगों से छपे और हाइलाइटेड पेपर पर चिपकाने की क्या जरुरत थी?

असल में कार्ड- कम्पनियां हमारी आलसी और लापरवाह आदतों से परिचित हैं. हमारी लापरवाही का खामियाजा उनकी साख पर नकारात्मक प्रभाव को घटाने के उद्देश्य से कम्पनियां चाहती हैं कि कार्ड की सुविधा का अधिकतम व सुरक्षित लाभ उठाने आप कम से कम अतिआवश्यक जानकारी अवश्य लें. इसीलिए रंगीन हाइलाइटेड स्याही में अति महत्वपूर्ण सूचना व सावधानियां छापे हुए कागज पर कार्ड को चिपकाकर भेजा जाता है। ताकि कार्ड निकालते समय शायद आपकी दृष्टि पड़े और शायद आप पढ़ कर स्वयं को धोखाधड़ी से बचाना सीखकर कार्ड प्रदाता कंपनियों पर उपकार करें!

लेखक: सत्यार्चन.SathyaArchan

हिन्द-हिन्दी-हिन्दू-हित-हेतु..... वास्तविक हिन्द हितचिंतक मंच!. प्रयास और परिवर्तन के प्रबल पक्षधर पराजित नहीं होते... हो भी नहीं सकते !!! - #सत्यार्चन #SathyArchan #Satyarchan

अच्छा-बुरा... कुछ तो कहिये...