Menu

नया रूप



इश्क जिन्दगी है
मौत भी
इश्क के रंगों में से
एक रंग यह भी….

Advertisements

1 thought on “नया रूप”

  1. सत्यार्चन.SathyArchan कहते हैं:

    वाह…
    हिन्द-हिन्दू-हिन्दी हित हेतु संकल्पित
    हम भी हैं…
    शुभ परिचय से शुभारंभ कीजिये …
    परिणाम भी भला होगा…
    .
    ज्ञानी कहते हैं कि
    सपने होंगे तब ही तो सच होने पर बात होगी
    सपने जरूरी हैं …
    बड़े सपने…
    .
    आपका ब्लाग भी आपके लिये
    बहुत बड़ा हो सकता है
    आप चाहें तो
    हमारी अनौखी परस्पर सहयोग योजना में
    साथ जुड़िये
    साथ दीजिये
    साथ लीजिये
    सब का सहयोग कर
    निःशुल्क सबसे सहयोग लें
    सब आगे बढ़िये…..
    साथ आइये …
    साथ लाइये …
    (https://lekhanhindustani.com पर )
    साथ पाइये।
    लेखन हिन्दुस्तानी के वर्तमान और भावी सदस्यों का!!!!!!
    (व्यक्तिगत संदेश पर विस्तृत जानकारी पाइये, हमें फालो कीजिये… अभी …)
    – सत्यार्चन

अच्छा-बुरा... कुछ तो कहिये...

%d bloggers like this:
टूलबार पर जाएं