Menu

फ़तह

कौन कहता है••• 

है फ़तह बहुत मुश्किल? 

कर मशक्कत माकूल 

और   

करता रह मुसलसल•••

हो जायेगी नामुमकिन

 दिखती भी हासिल

हो खड़ी दूर कितनी भी,

 फिक्र नहीं करना •••

 बस रखना मुकद्दस,

 तू सदा अपनी मंजिल! 
-सत्यार्चन 

 

Advertisements

अच्छा-बुरा... कुछ तो कहिये...

%d bloggers like this: