बदला बदला चाँद — The REKHA SAHAY Corner!

कुछ दिनों पहले चाँद ने किया कुछ वायदा और बादलों में खो गया . आया इस हफ़्ते सामने बदला बदला सा रूप ले कर , नया नया सा चाँद . रोज़ रोज़ रूप बदलते किस चाँद से पूछूँ उसका पुराना वायदा ? लोग भी ऐसे ही बदलते हैं। समझना मुश्किल है , ऐसे बदलते लोगो […]

via बदला बदला चाँद — The REKHA SAHAY Corner!

लेखक: सत्यार्चन.SathyaArchan

हिन्द-हिन्दी-हिन्दू-हित-हेतु..... वास्तविक हिन्द हितचिंतक मंच!. प्रयास और परिवर्तन के प्रबल पक्षधर पराजित नहीं होते... हो भी नहीं सकते !!! - #सत्यार्चन #SathyArchan #Satyarchan

अच्छा-बुरा... कुछ तो कहिये...