यादें तेरी…

तुमसे किया कोई वादा

 ना रह जाये अधूरा...
मिट जायें कि मिटा दें 
अपना हर हासिल 
निभाने किया गया अपना हर वादा... 
और तुझसे किये वादों की ही तरह 
सहेज रखी हैं...
हमने यादें तेरी...!-सत्यार्चन
Advertisements

लेखक: सत्यार्चन.SathyaArchan

हिन्द-हिन्दी-हिन्दू-हित-हेतु..... वास्तविक हिन्द हितचिंतक मंच!. प्रयास और परिवर्तन के प्रबल पक्षधर पराजित नहीं होते... हो भी नहीं सकते !!! - #सत्यार्चन #SathyArchan #Satyarchan