सपने पालो तो सही … होंगे तभी तो … सच हो पायेंगे ना !

सपने पालो तो सही … होंगे तभी तो … सच हो पायेंगे ना !

 सपने… सच हो सकें…

दोस्तो,

बेशक

 सभी के

 सारे सपने

 कभी सच में नहीं बदल पाते

 मगर,

 उससे बड़ी सच्चाई है कि

 सपने

केवल उनके सच हो सके

जिन्होने पहले सपने देखे

फिर उन्हें पाला,

अपने सपनों से

 दीवानगी की हद तक मोहब्बत की,

अपने सपने को

अपना जुनून बना डाला …

जिनने अपने सपनों को जिया…..

और वो …..

जो सपने देखने तक से डरते हैं

 वो क्या जानें कि

सपनों के जीने भर में ही

कितना शुरूर है

और सच होने का जलसा 

कैसा अनौखा होता है….

                    (12 अगस्त 2013) – #सत्यार्चन

लेखक: सत्यार्चन.SathyaArchan

हिन्द-हिन्दी-हिन्दू-हित-हेतु..... वास्तविक हिन्द हितचिंतक मंच!. प्रयास और परिवर्तन के प्रबल पक्षधर पराजित नहीं होते... हो भी नहीं सकते !!! - #सत्यार्चन #SathyArchan #Satyarchan

“सपने पालो तो सही … होंगे तभी तो … सच हो पायेंगे ना !” पर 3 विचार

अच्छा-बुरा... कुछ तो कहिये...