आइये अपने देश की खातिर कुछ लिखें !!!

आइये अपने देश की खातिर कुछ लिखें !!!

  • मैं- एक भारतवासी, हिंदी में लेखन के कारण एक अंतर्राष्ट्रीय संस्था  “सिटीजन इंटीग्रेशन पीस सोसायटी इंटरनेशनल ” द्वारा “राष्ट्रीय रतन अवार्ड” हेतु 2010 में नामांकित हुआ. मैं,  ट्विटर से जागरण जंक्शन तक सोशल मीडिया का नियमित उपयोगकर्ता / राष्ट्रवादी / लेखक / पाठक हूँ.
  • मेरी ही तरह,  भारत, हर भारतवासी का है , हर किसी के चिंतन में भारत का होना स्वाभाविक है.
  • आप कलम के जादूगरों में से हों या  कलम के अनाडी हों …. आग सबके सीने में है . सब अपने अपने तरीके से अपने ब्लॉग पर देश के प्रति अपनी चिंता / अपने कर्त्तव्य का प्रदर्शन भी कर रहे हैं . करते रहे हैं. कई बार एक ही तरह के विचार अलग-अलग शब्दों में अलग-अलग ब्लॉगों पर मिल जाते हैं.
  • एक तथ्य है कि  “किसी भी युद्ध में, पृथक-पृथक मोर्चों पर कुशलतम योद्धाओं को  एक-एक कर लड़ने भेजकर  केवल वीरगति ही दिलाई जा सकती है…. विजयश्री का वरण नहीं किया जा सकता!  विजय पाने कुशल / अकुशल योद्धाओं की टुकड़ी को, एक साथ एक-एक मोर्चे पर संगठित आक्रमण कर ही जीता जा सकता है”
  • विचार करें ….  आपको हमको सब हिन्दी जनों को सोचना है…
  •  तय करना है कि अलग-अलग प्रयासों को मरते देखना है… जिसमें किसीको कोई प्राप्ति नहीं होनी है ….  
  • या एक दूसरे का हाथ पकड़ साथ चलकर,  हिन्दी को और हिन्दुस्तानी भाषाओं को सशक्त करने में योगदान करना है!
  • साहित्य समृध्द हुआ तो राष्ट्र समृध्द होगा ! यदि कर्तव्य निर्वहन का श्रीगणेश करना है तो …. अनुरोध है कि,  देश हित में https://lekhanhindustani.com/ को  भी ‘आपका अपना’ ‘लेखन-मंच’  मानें और संकल्प ले सहयोग करें  …… अपनी कलम के जादू या अनाडीपन पर विचार किये बिना,  आपकी अपनी शैली में,  भाषायी सेवा के लिए, आपकी हर पुरानी व नई ब्लाग-पोस्ट को इस पोस्ट के टिप्पणी / प्रतिक्रिया खण्ड में चिपकायें,  या उसका संक्षिप्त विवरण सहित शीर्ष लिंक यहां चिपकायें ! या सीधे यहाँ ही प्रतिक्रिया के रूप में लिखिए ! सभी उद्गारों को आपके ब्लाग पते के उल्लेख सहित प्रकाशित होंगे ! हमारे माध्यम से आपको बिना कुछ भी खोये , निःशुल्क प्रमोशन का लाभ,  प्राप्त होगा !!! 
  • प्रतिक्रिया लिखने रिप्लाई या प्रतिक्रिया  विकल्प का प्रयोग कीजिये ! योगदान वांछनीय व अपेक्षित है !
  • निर्धारित अंकों एवं पाठकों की पसंद आधारित मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक, एवं वार्षिक अवार्ड की योजना भी है….
  • साथ ही चयनित एवं उपयुक्त कलमकारों को हमारी पत्रिका में प्रमुखता से प्रकाशित किया जाकर, अनौखी सहभागिता योजनांतर्गत पारिश्रमिक/रायल्टी का भी अवसर है.
  •  शुरुआत कीजिये आज ही ! अभी! प्रतीक्षा रहेगी….
Advertisements

आइये अपने देश की खातिर कुछ लिखें !!!&rdquo पर एक विचार;

  1. पिगबैक: आइये अपने देश की खातिर कुछ लिखें !!! | लेखन हिन्दुस्तानी

अच्छा या बुरा जैसा लगा बतायें ... अच्छाई को प्रोत्साहन मिलेगा ... बुराई दूर की जा सकेगी...

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s