Menu

शाबाश उमर!

शाबाश उमर!

अब सब चुप!

कयों?

यू पी के चुनाव में

कन्हैया द्वारा सबल दल के विरुद्ध

सघन सक्रिय प्रचार का दुष्परिणाम सार्वजनिक पिटाई

और देशद्रोह जैसे आरोपों में जेल यात्रा के बावजूद

अबिद उमर ने रात पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया

यानी उमर आपमें साहस भी है

और भारतीय न्यायिक प्रक्रिया में विश्वास भी!

शाबाश अबिद उमर शाबाश!

#सत्यार्चन

via WordPress.com.

Advertisements

अच्छा-बुरा... कुछ तो कहिये...

%d bloggers like this:
टूलबार पर जाएं